Babri Masjid : कब और कैसे हुआ बाबरी विध्वंस, पढ़िए पूरा घटनाक्रम 1528 से 2020 तक..

बाबरी विध्वंस केस: सभी 32 आरोपी बरी, जज ने कहा आकस्मिक थी घटना

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी विध्वंस केस (Babri Demolition Case) पर सीबीआई की विशेष अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुनाया। विशेष अदालत ने पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह,  उमा भारती, विनय कटियार समेत कुल 32 आरोपियों को बरी कर दिया है। 

जज ने फैसला पढ़ना शुरू, सूत्रों के मुताबिक जज ने कहा कि पूर्व नियोजित नहीं था विध्वंस, यह आकस्मिक थी घटना। छह दिसंबर, 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के आपराधिक मामले में 28 साल बाद जज सुरेंद्र कुमार यादव की विशेष अदालत अपना फैसला सुना दिया है। जज ने फैसला पढ़ते हुए कहा है कि यह विध्वंस पूर्व नियोजित नहीं था बल्कि आकस्मिक घटना थी। विशेष अदालत ने  लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी व कल्याण सिंह सभी अभियुक्तों को बरी कर दिया है।

ALSO READ:  सोनिया गांधी का करती हूं आदर, इंदिरा गांधी पर गर्व: उमा भारती

ALSO READ: हाथरस गैंगरेप मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने लिया संज्ञान, दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

बता दें कि इस केस की चार्जशीट में बीजेपी (BJP) के एलके आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह समेत कुल 49 लोगों का नाम शामिल है। जिनमें से 17 लोगों का निधन हो चुका है, बाकि 32 आरोपियों को कोर्ट ने मौजूद रहने के लिए कहा गया था लेकिन 26 आरोपी ही कोर्ट पहुंचे थे. आडवाणी और जोशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े थे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

2 thoughts on “बाबरी विध्वंस केस: सभी 32 आरोपी बरी, जज ने कहा आकस्मिक थी घटना”

  1. This is an example of the worthless Indian Judiciary and the worthless Indian Investigators

    Like was said by an SC Judge that a convict can get no fair trial in India.He said this in a London Court on Court Record.

    acqro.in/nirav-wont-get-fair-trial-in-india-katju/

    The moron judge says that there was no conspiracy,no collusion,no illegality and that it was a mass reaction like the Bastille revolution.He says that the accused were trying to STOP the crowd ! Juvenile Innocence or Pristine Virginal Thoughts ?

    This is also another nail in the coffin of the CBI (Indian Pandoo Service)

    And another kick for the “Indian Muslims” and their Love for Chaiwala ! These morons will never learn !

    Ache Din have come ! Modi Bhaiya has sent this love note to his Triple Talaq sisters !

    This is Y Indian Muslims are treated as 2nd class Muslims by the Arabs

    They are doomed by definition and DNA.dindooohindoo

    Their only salvation = Partition – but these gutless wimps,will not even stand up for it – let alone revolt.

  2. This is an example of the worthless Indian Judiciary and the worthless Indian Investigators

    Like was said by an SC Judge that a convict can get no fair trial in India

    acqro.in/nirav-wont-get-fair-trial-in-india-katju/

    The moron judge says that there was no conspiracy,no collusion,no illegality and that it was a mass reaction like the Bastille revolution.He says that the accused were trying to STOP the crowd ! Juvenile Innocence or Pristine Virginal Thoughts ?

    This is also another nail in the coffin of the CBI (Indian Pandoo Service)

    And another kick for the “Indian Muslims” and their Love for Chaiwala !

    Ache Din have come ! Modi Bhaiya has sent this love note to his Triple Talaq sisters !

    This is Y Indian Muslims are treated as 2nd class Muslims by the Arabs

    They are doomed by definition and DNA.dindooohindoo

    Their only salvation = Partition – but these gutless wimps,will not even stand up for it – let alone revolt.

Comments are closed.