IPL को लेकर रामदेव के बदले मिज़ाज, कभी बताया था जुए का अड्डा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोनिल के बाद बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि एक बार फिर से हैडलाइन में है। बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2020 के टाइटल स्पॉन्सर में शामिल हो गई है। विश्व बाजार में पहचान बनाने के लिए यह भारतीय आयुर्वेदिक कंपनी पतंजलि के लिए अच्छा अवसर है। हालांकि आईपीएल वही खेल है जिसको एक वक़्त पर बाबा रामदेव ने अश्लील और जुए का अड्डा बताया था। उन्होंने आईपीएल को भारतीय संस्कृति के खिलाफ बताया था। रामदेव ने कहा था कि चीयरलीडर्स के चलते यह खेल अश्लील हो गया है और इस खेल के कारण देश में जुआ और सट्टा बाजार बढ़ रहा है।

READ:  कोविड महामारी और बुन्देलखण्ड का पलायन

पतंजलि कंपनी के इस ऐलान के बाद से सोशल मीडिया में कई तरह के मीम की बौछार आ गई है।

आईपीएल 2020 के लिए उसकी मुख्य प्रायोजक कंपनी वीवो ने इस लीग से अपना नाता तोड़ लिया है। ऐसे में बीसीसीआई आईपीएल के 13वें अडिशन के लिए कोई नया स्पॉन्सर तलाश रहा है। इस बोली में बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने शामिल होने की इच्छा जताई है। इस पर अभी कंपनी की ओर से कोई अंतिम फैसला नहीं आया है।

READ:  लिव इन रिलेशन को नकारने वाला समाज नाता प्रथा पर चुप क्यों रहता है?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।