मनहूस है अगस्त! इस महीने वाजपेयी सहित इन 6 दिग्गजों ने दुनिया को कहा अलविदा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रिपोर्ट- राजीव पान्डे

आम तौर पर अगस्त का महीना रिमझिम फुहारों, व्रत, पूजा, स्वतंत्रता दिवस, तीज और रक्षाबंधन जैसे त्योहारों के लिए जाना जाता है, लेकिन इस बार यह महीना अशुभ या दूसरे शब्दों में कहें तो कुछ मनहूस खबरों के चलते सुर्खियों में रहा है। अगस्त का अभी आधा महीना ही बीता है और महज 16 दिनों में भारत ने ही नहीं बल्कि विश्व ने कई महान हस्तियों को खो दिया है।

आइए नजर डालते हैं ऐसे कुछ ऐसी ही दिग्गज हस्तियों पर जो तीज-त्यौहार के लिहाज से पावन समझे जाने वाले अगस्त महीने में हमें छोड़ कर चले गए हैं-

एम करुणानिधि (7 अगस्त)
तमिलनाडु की राजनीति के भीष्म पितामह कहे जाने वाले तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि का देहांत इसी महीने 7 अगस्त को हो गया । करूणानिधि राजनीति के खिलाड़ी होने के साथ एक अच्छे कवि भी थे। उनके जाने से पूरा दक्षिण समाज स्तब्ध रह गया।

यह भी पढ़े: राजीव की वजह से जिंदा हैं अटल, इन्दिरा को बताया था ‘दुर्गा’, कुछ ऐसे थे नेहरू से रिश्तें

वीएस नायपॉल (12 अगस्त)
साहित्य का नोबल पुरस्कार जीतने वाले भारतीय मूल के प्रसिद्ध लेखक वीएस नायपॉल का 12 अगस्त को तड़के निधन हो गया। उन्होंने 85 साल की उम्र में लंदन स्थित अपने घर में आखिरी सांस ली। बता दें कि वीएस नायपॉल यानी विद्याधर सूरज प्रसाद नायपॉल का जन्म 17 अगस्त सन 1932 को ट्रिनिडाड के चगवानस में हुआ था।

मार्क बेकर (13 अगस्त)
13 अगस्त को मार्क बेकर का निधन हो गया।वे एक मंच और फिल्म एक्टर थे। वह हेरोल्ड प्रिंस के कैंडिड के पुनरुत्थान में खिताब की भूमिका के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते थे।उनका जन्म 2 अक्टूबर 1946 को मैरीलैंड में हुआ था।

साेमनाथ चटर्जी (13 अगस्त)
लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी का 13 अगस्त को निधन हो गया। 10 बार सांसद रहे चटर्जी को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन दो दिन बाद वे भगवान को प्यारे हो गए। उनकी उम्र 89 साल थी। चटर्जी के निधन पर राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर दौड़ गई।

यह भी पढ़ें: अटल बिहारी वाजपेयी: टूटकर एक और तारा आसमान में जुड़ गया

अजीत वाडेकर (15 अगस्त)
जब देश 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा था, तब यानि 15 अगस्त को क्रिकेट प्रेमी एक खबर को सुनकर नि:शब्द और बेहद निराश हो गए थे। वह खबर थी भारत के पूर्व कप्तान अजीत वाडेकर के निधन की। विदेशी धरती पर टेस्ट सीरीज में भारत को पहली जीत दिलाने वाले 77 वर्षिय वाडेकर लंबी बिमारी से ग्रसित थे।

अटल बिहारी वाजपेयी (16 अगस्त)
इस महीने की सबसे व्याकुल कर देने वाली खबर जो रही है वह है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर। भारत रत्न और तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी का गुरूवार शाम 16 अगस्त को निधन हो गया।.

पिछले दो महीनों से नई दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल में भर्ती पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की ओजस्वी आवाज शाम 5.05 को थम गई। पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के निधन की खबर से देश-दुनिया में शोक की लहर है। भारत सरकार ने 7 दिन की राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें: …और खत्म हुआ ‘अटल युग’, अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद निधन

समाज और राजनीति की अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर फॉलो करें- www.facebook.com/groundreport.in/

Comments are closed.