Home » कौन है आशीष मिश्रा उर्फ मोनू जिस पर किसानों को कुचलने का लगा है आरोप?

कौन है आशीष मिश्रा उर्फ मोनू जिस पर किसानों को कुचलने का लगा है आरोप?

Ahish Mishra Lakheempur Kheeri culprit
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केंद्र में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra) को पिछले मंत्रीमंडल विस्तार में ही मोदी कैबिनेट में जगह मिली थी। जैसे ही अजय मिश्रा मंत्री बने उनके बेटे की ताकत खुद ब खुद ही बड़ गई । जी हां लखीमपुर खीरी में जिस भाजपा नेता पुत्र पर किसानों को बेरहमी से कुचलने का आरोप लगा है वो मोदी सरकार में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) हैं।

आशीष मिश्रा के पिता बड़े नेता हैं और वो खुद पिता की ताकत के रौब में उनका कारोबार चलाते हैं, इसमें पेट्रोल पंप, राईस मिल जैसे व्यवसाय शामिल हैं। अब पिता मंत्री हैं तो बेटा तो राजनीति में आएगा ही। माना जा रहा था कि इस बार वो विधानसभा चुनाव लड़ने वाले थे। उसी पार्टी से जो परिवारवाद के खिलाफ मानी जाती है, यानी भाजपा।

आशीष मिश्रा पर किसानों को कुचलने का है आरोप

लखीमपुर में रविवार को दो मंत्रियों के दौरे को लेकर भड़की हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई थी। इनमें चार किसान हैं। इस मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है।

‘किसानों ने मंत्रियों के आगमन को रोकने के लिए हेलीपैड का घेराव करने की योजना बनाई थी। एक बार यह समाप्त हो गया और अधिकांश लोग वापस जा रहे थे। इस बीच तीन कारें आईं और किसानों को कुचल दिया। एक किसान की मौके पर ही मौत हो गई। मंत्री का बेटा कार में था।’ 

किसान संघ के एक नेता डॉ दर्शन पाल
  • आशीष के खिलाफ लखीमपुर के तिकुनिया थाने में हत्या, आपराधिक साजिश, दुर्घटना और बलवा की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।
  • एफआईआर बहराइच नानपारा के जगजीत सिंह की तहरीर पर दर्ज की गई है।
READ:  Global Handwashing Day 2021: ऐसे हुई शुरुआत, यही है कोरोना जैसी बीमारी से भी बचने का इलाज

बेटे पर लगे आरोपों को लेकर मंत्री अजय मिश्रा ने सफाई दी है-

किसानों के बीच छुपे हुए कुछ उपद्रवी तत्वों ने उनकी (भाजपा कार्यकर्ताओं) गाड़ियों पर पथराव किया, लाठी-डंडे से वार करने शुरू किए। फिर उन्हें खींचकर लाठी-डंडों और तलवारों से मारापीटा, इसके वीडियो भी हमारे पास हैं। उन्होंने गाड़ियों को सड़क से नीचे खाई में धक्का दिया। उन्होंने गाड़ियों में आग लगाई, तोड़फोड़ की। मेरा बेटा कार्यक्रम खत्म होने तक वहीं(कार्यक्रम स्थल) था, उन्होंने जिस तरह से  घटनाएं की हैं अगर मेरा बेटा वहां(घटनास्थल पर) होता तो वो उसकी भी पीटकर हत्या कर देते।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram, and WhatsappFor suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com