रैंडम टेस्ट में खुलासा दिल्ली में तेज़ी से फैल रहा कोरोना, लॉकडाउन में कोई छूट नहीं

दिल्ली कोरोना घर घर जांच
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

20 तारीख से देश भर में लॉकडाउन में केंद्र सरकार ढील देने जा रही है, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में और सख्ती के संकेत दिये हैं। उन्होंन प्रेस कांन्फ्रेंस कर कहा कि दिल्ली की स्थिति गंभीर बनी हुई है। दिल्ली में बीते कुछ दिनों में ऐसे केस आए हैं जिन मरीजों में कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं था। न तो उन्हें बुखार था और ना ही खांसी, लेकिन वो कोरोना संक्रमित थे। वो औरों को भी कोरोना बांट रहे थे। ये बहुत खतरनाक स्थिति है। हमारे लिए चिंता की बात है। दिल्ली के सभी 11 जिले हॉट हॉटस्पॉट हैं।

Ground Report | News Desk

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा दिल्ली में शनिवार को सामने आए कोरोना वायरस के 186 मामलों को देखकर लगता है कि अब दिल्ली में कोरोना तेजी से फैलना शुरू हो गया है। यहां तेजी से कंटेनमेंट जोन भी बढ़ रहे हैं। हालांकि, स्थिति अभी नियंत्रण में है। केजरीवाल ने कहा कि जिन जगहों पर लोगों ने सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का पालन किया है, वहां पर इसके मामलों में काफी हद तक सुधार देखने को मिल रहा है। इसे नियंत्रण करने में लॉकडाउन का भी अहम योगदान है।

READ:  Delhi Night Curfew: केवल इन कामों के लिए जा सकेंगे घर से बाहर

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली कोरोना की सबसे मुश्किल लड़ाई लड़ रही है। विदेशों से आने वाले लोगों ने यहां कोरोना फैलाया है। इसमें मरकज का भी बड़ा योगदान रहा है। साथ ही केजरीवाल ने यह भी कहा कि दिल्ली में पूरे देश की 2 प्रतिशत जनसंख्या रहती है, लेकिन पूरे देश में कोरोना के जितने मामले हैं उसके 12 प्रतिशत दिल्ली में हैं। सबसे ज्यादा मार दिल्ली को झेलनी पड़ी है।

बीते कुछ दिनों में हमने हॉटस्पॉट में रैंडम टेस्ट कराए हैं। इस दौरान पाया गया है कि कुछ इलाकों में केस बढ़े हैं। वो भी तब जब वो हॉटस्पॉट हैं। कुछ लोग अब भी लापरवाही बरत रहे हैं, ये चिंता की बात है। मगर अभी हम इसे नियंत्रित कर सकते हैं।

दिल्ली में बीते कुछ दिनों में ऐसे केस आए हैं जिन मरीजों में कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं था। न तो उन्हें बुखार था और ना ही खांसी, लेकिन वो कोरोना संक्रमित थे। वो औरों को भी कोरोना बांट रहे थे। ये बहुत खतरनाक स्थिति है। हमारे लिए चिंता की बात है। दिल्ली के सभी 11 जिले हॉट हॉटस्पॉट हैं।

READ:  Delhi Covid wave worsens: 8 cases per minute, 3 deaths every hour

 मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार का कहना है कि जो हॉटस्पॉट और कंटेनमेंट जोन हैं उनमें ढील फिलहाल नहीं दी जानी चाहिए। दिल्ली में 11 जिले हैं और 11 के 11​ जिले हॉटस्पॉट घोषित किए गए हैं। केंद्र सरकार के मुताबिक कंटेनमेंट जोन में ढील नहीं दी जा सकती।

आज की तारीख में दिल्ली में 77 कंटेनमेंट जोन हैं। दिल्ली में कोरोना तेजी से फैल रहा है, लेकिन अभी स्थिति नियंत्रण के बाहर नहीं है। आज दिल्ली में 1,893 केस हैं इनमें से 26 ICU में हैं और 6 वेंटिलेटर पर हैं। कल हमारे पास 736 टेस्ट की रिपोर्ट आई, उनमें से 186 कोरोना के मरीज निकले। इन 186 मरीजों में से किसी को कोरोना के लक्षण नहीं थे। अपने दिल्ली​वासियों की जिंदगी का ख्याल रखते हुए हमने फैसला लिया है कि फिलहाल लॉकडाउन की शर्तों में कोई ढिलाई नहीं दी जाएगी। एक हफ्ते बाद हम दोबारा विशेषज्ञों के साथ बैठकर इसकी समीक्षा करेंगे और जरूरत पड़ी तो ढिलाई दे सकते हैं। 

READ:  A week ahead of launch, Center derails AAP's 'door-step delivery of ration' project

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।