Home » Corona : जानिए क्या है केजरीवाल का 5T प्लान ?

Corona : जानिए क्या है केजरीवाल का 5T प्लान ?

Arvind Kejriwal Announces Restriction In Delhi Due To Corona Outbreak
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट, नई दिल्ली:
दिल्ली समेत देशभर में इस वक्त कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती रही है। कोरोनावायरस को फैसने से रोकने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार ने 5 टी प्लान बनाकर तैयार किया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 5 टी में पहला टी है टेस्टिंग, दूसरा है ट्रेसिंग, तीसरा है ट्रीटमेंट, चौथा है टीम वर्क और पांचवा है ट्रैकिंग और मॉनीटरिंग होगा। दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: Corona: आखिर भारत से कोरोना की दवाई क्यों मांग रहा अमेरिका? जानिये…

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जो देश कोरोना वायरस की जांच के लिए टेस्‍ट करने में आगे रहे, उन्‍होंने इस संक्रमण को कंट्रोल किया। इसके लिए ‘फाइव T’ प्‍लान (5T plan)तैयार किया है, जिसे टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीम वर्क और ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग के तहत शुरू किया जाएगा

यह भी पढ़ें: Corona: क्या ट्रंप की धमकी से डरे पीएम मोदी? ट्रेंड हुआ #डरपोकमोदी

आइये जानते हैं क्या है ये 5 T प्लान ?

  • टेस्टिंग : डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि देखा गया है जिन जिन देशों में कोरोना फैला और टेस्ट नहीं हुए वहां वहां कोरोना का खतरा बढ़ा । इसलिए दिल्ली सरकार ने टेस्ट करने के लिए प्लान बनाया है। उन्होंने कहा,” हमने 50 हजार लोगों के टेस्ट के लिए किट का ऑर्डर किया है। एक लाख लोगों के रैपिड टेस्ट के लिए किट का ऑर्डर कर दिया है। शुक्रवार से रैपिड टेस्ट किट आने लगेगा। कोरोना के हॉटस्पॉट एरिया में रैपिड टेस्ट किया जाएगा। साउथ कोरिया जैसे देशों ने बड़े पैमान पर टेस्टिंग करके इस खतरे पर काबू पाया।”
  • ट्रेसिंग: सीएम ने बताया कि जो कोरोना पॉजिटिव निकलेगा उसको प्रापर तरीके से ट्रेस करेंगे । अभी तक ट्रेसिंग अच्छी चल रही है, अब इसमें पुलिस की भी मदद लेंगे। पुलिस को 27,702 लोगों के फ़ोन नंबर देकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं । इसके साथ ही मरकज से निकलने वाले 2000 लोगों के फोन नंबर भी पुलिस को दिए जाएंगे। उनके लोकेशन के आधार पर इलाकों को सील किया जाएगा ।
  • ट्रीटमेंट: तीसरे टी के बारे में बताते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि तीसरे टी का मतलब है ट्रिटमेंट यानी ट्रीटमेंट के लिए हमारे पास तीन हज़ार बेड तैयार हैं, इसमें 2450 सरकारी हैं। बाकी प्राइवेट मैक्स साकेत, गंगाराम और अपोलो में हैं। आज दिल्ली में 2950 बेड हैं, 525 मरीज हैं.अगर 3,000 से ज़्यादा मरीज हुए तो इसकी प्‍लानिंग भी हमने की है. अगर 30,000 एक्टिव मरीज भी दिल्ली में हुए तो उसकी प्लानिंग हमने की है.8 हज़ार हॉस्पिटल बेड, 12 हजार होटल के कमरे टेकओवर करेंगे।
  • टीम वर्क: सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना का अकेले कोई सामना नहीं कर सकता। इसके लिए टीम वर्क से काम होगा। सरकार एक टीम की तरह काम कर रही हैं। देश की सभी राज्य सरकारों को मिलकर काम करना होगा । सभी राज्य सरकारों को एक-दूसरे से सीखना भी है। इस टीम का सबसे अहम हिस्सा डॉक्टर और नर्स हैं।
  • ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग: पांचवें और आखिरी टी के बारे में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसका मतलब है ट्रैकिंग और मॉनीटरिंग। सभी चीजों को ट्रैक करना सबसे जरूरी है। सभी प्लान को ट्रैक करने की जिम्मेदारी मेरी है। अगर हम कोरोना से तीन कदम आगे रहेंगे, तभी हम इसको हरा पाएंगे।