Arnab Goswami: Arnab Goswami: Arnab Goswami did not get bail, High court asked to go to lower court

Arnab Goswami: अर्णब गोस्वामी को जेल से बेल नहीं, High Court ने सुना दिया ये फरमान

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Arnab Goswami: रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्‍वामी और न्यूज एंकर अर्णब गोस्वामी (Republic TV editor-in-chief Arnab Goswami and news anchor Arnab Goswami) फिलहाल जेल में ही रहेंगे। मामले की सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ((Bombay High Court)) ने कहा कि उन्हें निचली अदालत में अपील करनी चाहिए। हाई कोर्ट के इस फरमान के बाद फिलहाल अर्णब गोस्वामी (Republic TV editor-in-chief Arnab Goswami and news anchor Arnab Goswami) को राहत मिलती नहीं दिख रही है। अर्णब गोस्वामी ने हाई कोर्ट में बेल के लिए अपील की थी लेकिन उच्च न्यायाल ने उनकी बेल रिजेक्ट कर दी और उनके वकील को निचली अदालत में अपील करने के लिए कहा है।

रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्‍वामी (Republic TV editor-in-chief Arnab Goswami and news anchor Arnab Goswami) को बॉम्‍बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने राहत नहीं दी है। अर्णब गोस्वामी के मामले में फैसला सुनाते हुए हाई कोर्ट ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया है और कहा है कि वे लोअर कोर्ट में अपील करें। लोवर कोर्ट अगले चार दिनों के भीतर अर्णब गोस्वामी की जमानत की अपील पर फैसला सुना सकता है। हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद ये साफ हो गया है कि फिलहाल अर्णब गोस्वामी को राहत मिलती नहीं दिख रही है और अभी वे कुछ दिन और जेल में ही रहेंगे।

READ:  Unlock-3: अनलाॅक-2 होगा ख़त्म, जानिए कैसा होगा अनलाॅक-3?

Arnab Goswami Arrested: आज अन्वय और सुशांत की आत्मा को शांति मिली होगी..!

बता दें कि एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां को खुदकुशी के लिए कथित रूप से उकसाने के मामले में मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने मामले की जांच और अर्णब से पूछताछ के लिए 14 दिनों की न्यायिक हिरासत की अपील की थी। अपनी गिरफ्तारी को अर्णब ने गैर-कानूनी बताया और कहा था कि पुलिस उनके साथ बदसलूकी कर रही है और गैर-कानूनी रूप से उन्हें गिरफ्तार कर रही है।

अर्णब को रायगढ़ स्थित अलीबाग जेल में बने कोविड-19 केंद्र में न्यायिक हिरासत में रखा गया था, लेकिन यहां उन पर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने का आरोप लगा, जिसके बाद उन्हें तलोजा जेल भेज दिया गया था। रायगढ़ क्राइम ब्रांच ने अर्नब को किसी अन्य व्यक्ति का मोबाइल इस्तेमाल करते हुए पाया था साथ ही इस दौरान उन्हें जेल में बंदी होने के बावजूद उन्हें सोशल मीडिया पर एक्टिव पाया गया था।

READ:  Indian Govt bans 47 more Chinese apps : Here is everything about it

Arnab Goswami Arrested : अर्णब की गिरफ़्तारी पर किसने क्या कहा, देखिए सिर्फ़ एक क्लिक में

इस दौरान अर्णब गोस्वामी ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा था कि पुलिस ने उनकी बुरी तरह पिटाई की, बाल खींचे। इतना नहीं नहीं उन्होंने कहा कि जेलर ने भी उनकी पिटाई की है। उन्होंने अपनी जान को खतरा बताते हुए कहा था कि उन्हें उनके वकील से बात नहीं करने दी जा रही है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at [email protected] to send us your suggestions and writeups