तलोजा जेल

Arnab Goswami Arrested: BJP को याद आई प्रेस की आज़ादी, देखें किस मंत्री ने क्या कहा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Arnab Goswami Arrested: महाराष्ट्र पुलिस ने बुधवार सुबह रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णव गोस्वामी (Arnab Goswami) को उनके घर से गिरफ्तार किया है। अर्नब गोस्वामी का आरोप है कि मुंबई पुलिस ने सुबह घर में घुसकर उनके साथ हाथापाई की है। अर्नब को 53 साल के एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां की आत्महत्या के मामले में मुंबई पुलिस ने बुधवार सुबह उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। वहीं रिपब्लिक न्यूज चैनल का दावा है कि अर्नब को उस मामले में गिरफ्तार किया गया है, जो पहले ही बंद किया जा चुका है। पत्रकार अर्नब गोस्वामी की इस गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में इमरजेंसी हालात हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि, वरिष्ठ पत्रकार श्री अर्नब गोस्वामी जी की गिरफ्तारी कांग्रेस पार्टी के द्वारा अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार है। देश में इमरजेंसी थोपने व सच्चाई का सामना करने से हमेशा मुंह छुपाने वाली कांग्रेस पुनः प्रजातंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस समर्थित महाराष्ट्र सरकार का यह कृत्य लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया को स्वतंत्र रूप से कार्य करने से रोकने का कुत्सित प्रयास है।

ALSO READ:  Arnab Goswami Arrested : अर्णब की गिरफ़्तारी पर किसने क्या कहा, देखिए सिर्फ़ एक क्लिक में

महाराष्ट्र पुलिस ने Arnab Goswami को किस मामले में किया है गिरफ्तार, पहले वो जान लीजिए

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाष्ट्र की उद्धव सरकार और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि, महाराष्ट्र सरकार ने देश के प्रतिष्ठित पत्रकार श्री अर्नब गोस्वामी के विरुद्ध बर्बर कार्रवाई कर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कुचलने का पाप किया है। लोकतंत्र को कुचलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को रौंदने के कांग्रेस और महाराष्ट्र सरकार के इस कदम की मैं कड़ी निंदा करता हूं।

ALSO READ:  Arnab Goswami sent to judicial custody for 14 days

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी को इमरजेंसी बताया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, महाराष्ट्र में इमरजेंसी जैसे हालात हैं। अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी प्रेस की आजादी पर प्रहार है। यह हमें इमरजेंसी की याद दिलाते हैं। मैं इसका पुरजोर विरोध करता हूँ।

Arnab Goswami Arrest: अर्नब गोस्वामी हुए गिरफ़्तार, सोशल मीडिया पर भारी बवाल

ALSO READ:  अभिव्यक्ति की आज़ादी के तहत Arnab Goswami को सुप्रीम कोर्ट से राहत

वहीं केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा, वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी के साथ किया गया व्यवहार लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को कमजोर करने और विरोध के स्वर का दमन करने की अधिनायकवादी प्रवृत्ति का प्रतीक है।कांग्रेस को आपातकाल समेत अनेक उदाहरणों का ध्यान करना चाहिए कि प्रेस का दमन करने वाली सरकारों का हश्र बुरा हुआ है।

वहीं केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने ट्वीट कर कहा, वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी निंदनीय है यह नैतिक रूप से अनुचित और चिंताजनक है। हमने 1975 में आपातकाल का विरोध करते हुए प्रेस की आजादी की लड़ाई लड़ी थी।

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की निंदा की है और महाराष्ट्र सरकार पर हमला बोला है। प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट किया, ‘हम महाराष्ट्र में प्रेस की आजादी पर हमले की निंदा करते हैं। यह प्रेस के साथ बर्ताव का तरीका नहीं है। यह हमें आपातकाल के उन दिनों की याद दिलाता है जब प्रेस के साथ इस तरह से व्यवहार किया गया था।’

वहीं मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष और कांग्रेस विधायन ने ट्वीट कर कहा, एक इंटेरीर डिज़ाइनर के सुसाइड नोट में अर्णव गोस्वामी का नाम है। भाजपा की नींद क्यों हराम है?? बता दें कि मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को उनके घर से गिरफ्तार किया है। अर्नब पर दो लोगों को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups