amitabh bachchan corona caller tune

अब फोन लगाने पर नहीं सुनाई देगा Amitabh Bachchan का कोरोना संदेश

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना महामारी के दौरान लोगों को जागरुक करने के लिए कॉलर ट्यून पर कोरोना संदेश सुनाई देता है। यह संदेश अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की आवाज़ में होता है जिसमें कोरोना से बचाव के मंत्र दिए जाते हैं। अगर खबरों की माने तो अब यह संदेश लोगों को नहीं सुनाई देगा। शुक्रवार 15 जनवरी से अमिताभ बच्चन की जगह महिला आर्टिस्ट की आवाज में कॉलर ट्यून सुनाई देगी।

क्यों बदली जा रही है कॉलर ट्यून?

(Amitabh Bachchan) की आवाज़ ऐसी है जिसे सुनते ही लोगों का ध्यान आकर्षित हो जाता है। उनकी आवाज़ देश की सबसे प्रभावी आवाज़ों में से एक है। उनके द्वारा किए गए पोलियो रविवार के विज्ञापन हों या कोई भी सामाजिक संदेश लोग बड़े ध्यान से सुनते हैं। यही कारण रहा कि सरकार द्वारा कोरोना महामारी से बचाव का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए अमिताभ बच्चन की आवाज़ का प्रयोग किया गया। लेकिन अब कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के दौर में पहुंच चुका है। ऐसे में अब कॉलर ट्वयून बदली जा रही है।

READ:  Bollywood actor Amitabh Bachchan tests positive for coronavirus

How to get Coronavirus Vaccine: कोरोना का टीका कब, कहां, कैसे लगेगा, आपके दिमाग में घूम रहे सभी सवालों के जवाब

देश में कोरोना का टीकाकरण शनिवार यानी 16 जनवरी से शुरु होने जा रहा है। इसी के साथ शुक्रवार से बदली हुई कॉलर ट्यून में आप कोरोना के टीका से सम्बंधित संदेश सुन सकेंगे। इस नई कॉलर ट्यून में लोगों को टीकाकरण से जुड़ी ज़रुरी जानकारी दी जाएगी। यह ट्यून (Amitabh Bachchan) की आवाज़ में होती थी।

कोरोना की कॉलर ट्यून से कुछ लोगों को हुई परेशानी

कोरोना महामारी से परेशान लोग अक्सर जब फोन लगाते और (Amitabh Bachchan) की आवाज़ सुनते तो थोड़ा परेशान भी हो जाते थे। अक्सर लोगों को कहते सुना जाता था कि यार ये सब कब खत्म होगा। अब जब लोगों को टीकाकरण की कॉलर ट्यून सुनाई देगी तो इससे उम्मीद का संचार होगा। अमिताभ बच्चन की आवाज़ से शायद कुछ लोग परेशान हुए हों लेकिन महामारी के दौरान लोगों को जागरुक करने का यह उपाय सबसे कारगर साबित हुआ है।

READ:  बिहार में 16 दिन का लॉकडाउन, जानिए क्या हैं नियम?

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें [email protected] पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.