Home » मज़दूरों की मौत पर साधे रहे चुप्पी, चुनाव आते ही 1000 वर्चुअल रैलियों की तैयारी

मज़दूरों की मौत पर साधे रहे चुप्पी, चुनाव आते ही 1000 वर्चुअल रैलियों की तैयारी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल में वर्चुअल (ऑनलाइन) रैली की। उन्होंने कहा कि 2014 से राज्य में परिवर्तन के लिए 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं ने जान गंवाई, उनका त्याग ‘सोनार बांग्ला’ बनाने में काम आएगा।

कोविड और अम्फान के कारण जिन लोगों की जान गई है, उनकी आत्मा की चीर शांति के लिए मैं प्रभु से कामना करता है। 2014 से बंगाल के अंदर परिवर्तन के लिए 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं ने जान गंवाई, उन सभी के परिवार को सलाम करना चाहता हूं। आपका त्याग सोनार बंगला के निर्माण में काम आएगा। जब कभी बंगाल का इतिहास लिखा जाएगा तो आपके परिवार के त्याग और बलिदान को याद किया जाएगा।

देश में 75 रैलियों के जरिए हमने देश की जनता और लोगों से संपर्क करने का अभियान चलाया है। इसका असर आने वाले समय में दिखाई देगा। भले ही भाजपा को देश भर में 300 से ज्यादा सीटें मिली हैं, लेकिन हमारे जैसे कार्यकर्ताओं के लिए बंगाल की 18 सीटें अहम है। हम बंगाल में सिर्फ राजनीतिक अभियान चलाने के लिए नहीं आए। हम यहां पर सोनार बंगाल बनाने के लिए आए हैं।

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ”अमित शाह जी निश्चित ही कोविड-19 से निपटने में केंद्र सरकार की उपलब्धियों के बारे में बोलेंगे। लेकिन साथ ही ऐसी संभावना है कि वह राजनीतिक हिंसा, महामारी से निपटने में राज्य सरकार की विफलता, प्रवासी श्रमिक संकट तथा चक्रवात अम्फान के बाद की स्थिति के मुद्दों का जिक्र करेंगे ।

बंगाल में 1000 वर्चुअल रैली करने की योजना

ख़बर है कि भाजपा बंगाल के हर हिस्से को कवर करने के लिए यहां 1000 वर्चुअल रैली करने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा कि बीते 2 महीने से हमारे कार्यकर्ता घरों पर बैठे हैं। इस रैली से उनका मनोबल बढ़ेगा और राज्य की 294 सीटों पर अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए ऊर्जा मिलेगी। बंगाल में पिछले साल हुए आम चुनाव में भाजपा को 18 और सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को 22 सीटें मिली थीं ।

READ:  Cooperative Societies Act to be amended soon: Amit Shah

इंदिरा गांधी ने लोकतंत्र का गला घोंटा

बिहार के बाद आठ जून को अमित शाह ने ओडिशा जनसंवाद रैली में अपनी बात रखी। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ओडिशा के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी कृत संकल्प है। ओडिशा की जनता ने जो भी अपेक्षा प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार से की है, उस पर हम निश्चित रूप से खरे उतरेंगे। उन्होंने कहा था कि दो गज की दूरी भाजपा कार्यकर्ताओं को जनता से दूर नहीं कर सकती।

शाह ने बिहार की वर्चुअल रैली में 35 मिनट भाषण दिया था। इसमें उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश की थी। इंदिरा अब नहीं हैं, लेकिन गरीबी वहीं की वहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो कहते हैं वो करते हैं। बिहार में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

READ:  Siddhu's resignation : सोनिया गांधी ने नामंजूर किया नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा, कहा- पंजाब में मचा घमासान जल्द निपटाए

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।