जो बाइडेन

जानिए कौन हैं अमेरिका के होने वाले 46वें राष्ट्रपति जो बाइडेन

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सम्पूर्ण विश्व में अपनी डेमोक्रेसी और सुपर पॉवर मुल्क होना का ढोल पीटने वाला अमेरिका आज अपने देश का 46वां राष्ट्रपति चुनने में पिछले 4 दिनों से वोटों की गिनती में ही उलझ कर रह गया। अमेरिकी चुनाव में वोटों की गिनती और चुनावी रिज़ल्ट के इंतेज़ार को देखकर आज एक मशहूर कहावत ‘बीरबर की खिचड़ी’ की याद आ गई। जो बाइडेन (Joe Biden) और ट्रंप दोनों में कड़ा मुक़ाबला जारी है। ख़ैर, नतीज़ा जो भी निकले मगर इतना तो साफ़ हो गया कि इस बार अमेरिकी चुनाव दुनियाभर में चर्चा का केंद्र बना हुआ है।

अमेरिका में पिछले चार दिनों से वोटों की गिनती जारी है और अब साफ हो गया है कि डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन अमेरिका का नया राष्ट्रपति बनने के लिए ज़रूरी 270 इलेक्टोरल वोट को हासिल कर अमेरिका का नया राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं। बाइडेन करीब 78 साल के हैं और वो अमेरिका के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति होंगे। तो आइए जानते हैं अमेरिका के नए राष्ट्रपति बनने जा रहे जो बाइडेन से जुड़ी तमाम महात्वपूर्ण जानकारियां।

READ:  क्या अमेरिका में चुनाव बाद संवैधानिक संकट खड़ा होने वाला है?

बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद भारत पर क्या असर पड़ने वाला है ?

जो बाइडेन का पूरा नाम जोसेफ रॉबिनेट बाइडेन जूनियर है। बाइडेन का जन्म 20 नवंबर 1942 को अमेरिका के पेन्सिलवेनिया राज्य के स्क्रैंटन में हुआ था। हालांकि वह बचपन में ही डेलवेयर चले गए थे। डेलवेयर में ही उनका बचपन कटा और वहीं पले-बड़े। सिरैक्यूज़ यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ़ लॉ से बाइडेन ने स्नातक पूरा किया । स्नातक करने के एक साल बाद उन्होंने डेलावेयर बार परीक्षा पास की।

अगर ट्रंप और बाइडेन के बीच मुक़ाबला टाई हो जाता तो क्या होता ?

साल 1972 में जो बाइडेन डेलावेयर से सीनेट के लिए चुने गए। तब वो सबसे कम उम्र के सिनेटर में से एक बने। अमेरिकी सीनेट में रहते हुए बाइडेन ने न्यायपालिका समिति और विदेशी संबंध समिति में सेवा की, कानून और राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में एक महत्वपूर्ण अनुभव का निर्माण किया।

जो बाइडेन का राजनीतिक कैरियर

राजनीतिक कैरियर की बात करें तो जो बाइेन की पहली कोशिश 1988 के चुनाव के लिए थी ।उन्होंने अपनी दूसरी कोशिश 2008 के चुनाव के लिए की थी। डेलवेयर से 6 बार सीनेटर रह चुके हैं। बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव की रेस में तीसरी बार उतरे हैं।

READ:  Bangalore Riots: NIA की 30 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी, दंगों की ये 'अहम कड़ी' गिरफ्तार

US Election : जानिए क्यों हो रही अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों में देरी?

वह ओबामा के कार्यकाल में 2008 से 2016 तक दो बार उपराष्ट्रपति भी रह चुके हैं। बाइडेन को अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का करीबी माना जाना है। यही वजह है कि 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन की जीत के लिए ओबामा भी काफी जोर लगाते दिखें।

बाइडेन का व्यक्तिगत जीवन काफी कठिन गुज़रा

व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो जो बाइडेन (Joe Biden) ने काफी तकलीफें झेली। 1972 में सीनेट चुने जाने के कुछ वक्त बाद ही एक कार एक्सीडेंट में उनकी पत्नी नीलिया और बेटी नाओमी की मौत हो गई, जबकि उनके बेटे हंटर और ब्यू गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्होंने अपने दोनों बेटों को अपनी बहन और उनके परिवार की मदद से बड़ा किया। हालांकि पहली पत्नी नीलिया की मौत के 5 साल बाद बाइडेन ने जिल से शादी कर ली। जिल और बाइडेन की एश्ली नाम की एक बेटी है, जिसका जन्म 1981 में हुआ था।

READ:  US Election 2020: ट्वीटर ने दिया फटका, डोनाल्ड ट्रंप को लगा झटका

जानिए स्पेस से कैसे डाला इस अंतरिक्ष यात्री ने अमेरिकी चुनाव में वोट

साल 2015 में 46 साल की उम्र में बाइडेन के बड़े बेटे ब्यू की ब्रेन कैंसर से मौत हो गई थी। बाइडेन के छोटे बेटे हंटर की बात करें तो एक वकील और लॉबिस्ट के रूप में उनका करियर भ्रष्टाचार के आरोपों का निशाना रहा है।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups

%d bloggers like this: