Home » अनुराग कश्यप की प्रॉपर्टी देख सभी हुए हैरान, इतने करोड़ निकली संपत्ति :रिपोर्ट्स

अनुराग कश्यप की प्रॉपर्टी देख सभी हुए हैरान, इतने करोड़ निकली संपत्ति :रिपोर्ट्स

अनुराग कश्यप
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बुधवार को मुंबई और पुणे में बॉलीवुड की 4 हस्तियों के ठिकानों पर छापे मारे। इनमें एक्ट्रेस तापसी पन्नू, प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप, विकास बहल और मधु मंटेना शामिल हैं।

वेबसाइट सीएनॉलेज के मुताबिक, तापसी पन्नू सालाना कम से कम 4 करोड़ रुपए कमाती हैं। इस तरह उनकी एक महीने की कमाई 30 लाख प्लस मानी जा सकती है। 2019-2020 में तापसी 1 से 2 करोड़ रुपए तक चार्ज करती थीं।

हालांकि, ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक तापसी एक फिल्म के लिए 8 करोड़ रुपए चार्ज कर रही हैं। वे अभी 10 ब्रांड्स को भी एंडोर्स कर रही हैं। इन ब्रांड एंडोर्समेंट से वे सालाना करीब 2 करोड़ रुपए तक कमाती हैं।

Porn फिल्मों को क्यों कहा जाता है ‘ब्लू फिल्म’?

IT रेड के बाद अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा गर्म है। इस बीच, कुछ रिपोर्ट्स के हवाले से दोनों कलाकारों की नेटवर्थ को लेकर भी दावे किए जा रहे हैं। सबसे ज्यादा 806 करोड़ की संपत्ति अनुराग कश्यप के पास बताई गई है, वहीं तापसी पन्नू के पास 44 करोड़ की संपत्ति है।

READ:  International news : इस देश का अजीबो गरीब कानून, गंजे लोगों को उतार दिया जाता है मौत के घाट!

एक फिल्म का निर्देशन करने के लिए अनुराग को तकरीबन 11 करोड़ रुपए मिलते हैं। वे एक साल में करीब 60 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई करते हैं। उनकी एक महीने की इनकम 6 करोड़ रुपए से ऊपर है। वेबसाइट सीएनॉलेज के मुताबिक, लीक से हटकर सिनेमा बनाने के लिए मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप के पास 806 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी है।

अनुराग कश्यप के पास 4 करोड़ रुपए की लग्जरी कारें हैं। हर साल वे कम से कम 9.8 करोड़ रुपए का इनकम टैक्स भरते हैं। अनुराग ने ‘ब्लैक फ्राइडे’, ‘गुलाल’, ‘नो स्मोकिंग’, ‘देव डी’, ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ और ‘बॉम्बे वेलवेट’ जैसी फिल्मों का निर्देशन किया है।

READ:  Dog's killer got arrested : 20 कुत्तों को जहर देकर मारने वाला दरिंदा गिरफ्त में, पुलिस ने बताया हत्या के पीछे का कारण।

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups.