अफ्रीका में मिला ‘चांद का टुकड़ा’ अमेरिका में नीलाम, 5.87 करोड़ में वियतनाम ने खरीदा

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वियतनाम, 21 अक्टूबर। हर प्रेमिका की ख्वाहिश होती है कि उसका प्रेमी उसके लिए चांद तारे तोड़ लाए लेकिन यह काम संभव नहीं है। लेकिन आपको जानककर हैरानी होगी कि अमेरिका स्थित आर. आर.ऑक्शन कंपनी ने चांद के एक टुकड़े को करीब 5 करोड़ 87 लाख रुपये में बेचा है।

हांलाकि इसे खरीदने वाले की पहचान अब तक नहीं हो पाई है लेकिन आर. आर.ऑक्शन कंपनी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक, इस उल्कापिंड को वियतनाम के ताम चुक पागोदा कॉम्प्लेक्स में रखा जाएगा।

दरअसल, चांद से धरती पर गिरे एक उल्कापिंड को अमरीका की एक कंपनी ने नीलामी के दौरान बेचा है। चांद के इस टुकड़े का वजन 12 पाउंड है। बताया जा रहा है कि यह चंद्रमा से गिरा एक उल्कापिंड है। इसकी नीलामी करने वाली कंपनी का कहना है कि यह दुनिया का सबसे कीमती उल्कापिंड है, क्योंकि यह चांद का अब तक का सबसे बड़ा टुकड़ा है।

READ:  US Presidential Election: Joe Biden lead by 12 points against Trump in latest Fox poll

आमतौर पर उल्कापिंड का आकार एक गोल्फबॉल जितना होता है लेकिन इसका आकार कुछ ज्यादा ही बड़ा है। 6 टुकड़ों से बना ये उल्कापिंड
साल 2017 में अफ्रीका से खोजा गया था। इस उल्कापिंड के बारे में बताया जा रहा है कि यह कई हजार साल पहले धरती पर गिरा था।

आमतौर पर अंतरिक्ष यात्री चांद से अगर कोई पत्थर या पिंड लाता है तो वह अमेरिका की संपत्ति माना जाता रहा है लेकिन यह पहला मौका है जब चांद का यह टुकड़ा किसी गैर अमेरिकी यानी वियतनाम ने नीलामी के दौरान खरीदा है।