Home » Adani Ambani लॉकडाउन में हुए मालामाल जनता हुई कंगाल, बताओ कैसे?

Adani Ambani लॉकडाउन में हुए मालामाल जनता हुई कंगाल, बताओ कैसे?

adani ambani richest person in asia
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | Opinion | विपक्ष हमेशा मोदी सरकार पर इस बात पर हमलावर रहता है कि उनकी सरकार से केवल देश के दो लोगों को फायदा हुआ है। वो हैं भारत के दिग्गज उद्योगपति गौतम अडाणी और मुकेश अंबानी (Adani-Ambani)

अगर हाल ही में जारी हुई कुछ रिपोर्ट्स पर गौर करें तो यह बात निकलकर सामने आती है कि देश में गरीब और अमीर के बीच की खाई बढ़ गई है। कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन ने इसे और गहरा कर दिया है।

Mukesh Ambani एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) फरवरी महीने में चीन के शानशान को पीछे छोड़ एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए। अंबानी (Ambani) की कुल संपत्ति 76.5 बिलियन डॉलर आंकी गई है. वहीं, चीन के झोंग शानशान की कुल नेट वर्थ 63.6 बिलियन डॉलर रहा।

Gautam Adani एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति

ब्लूमबर्ग बिलिनियर्स इंडेक्स की रिपोर्ट के अनुसार भारत के दिग्गज उद्योगपति गौतम अडाणी (Gautam Adani) एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। संपत्ति के मामले में चीन के झोंग शानशान को पछाड़कर अडाणी ने यह स्थान हासिल किया है। गौतम अडानी (Adani) की कुल नेट वर्थ 66.5 बिलियन डॉलर है। इस साल गौतम की संपत्ति में लगभग 32.7 डॉलर का इजाफा देखने को मिला।

ध्यान देने की बात यह है कि अडाणी समूह के कंपनियों के शेयरों में पिछले कुछ माह में जबरदस्त तेजी की बदौलत वैश्विक अमीरों की लिस्ट में गौतम अडाणी के स्थान में लगातार सुधार हुआ है। यह वही दौर है जब देश में लॉकडाउन की वजह से कई कारोबार तबाह हो गए और लोग रोज़ी रोटी को तरसने लगे। अडाणी और अंबानी (Adani-Ambani) की संपत्तियों में लॉकडाउनके दौरान ज़बरद्स्त इज़ाफा भारत सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े करती है।

ALSO READ: मोदी सरकार के 5 बड़े घोटाले, जिनके सबूत मिटाने पर जुटी है सरकार

महामारी की वजह से देश में गरीबों की संख्या दोगुनी हुई: रिपोर्ट

प्यू रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट के मुताबिक महामारी की वजह से भारत में मध्यमवर्गीय लोगों की संख्या घटी है और गरीबों की संख्या दोगुनी हो गई है। महामारी ने 7.5 करोड़ लोगों को गरीबी के कुंए में धकेल दिया है। दिन में 150 रुपए से भी कम कमाने वालों की संख्या दोगुनी से ज्यादा हो गई है।

भारत में मिडल इनकम ग्रुप जो 10 करोड़ हुआ करता था सिकुड़ कर 6.6 करोड़ रह गया है। वहीं दिन का 1500 रुपए कमाने वाले लोगों में भी 30 प्रतिशत की कमी आई है।

वहीं महामारी की शुरुवात चीन से हुई लेकिन वहां लोगों की कमाई में कोई खास अंतर नहीं आया है। चीन में गरीबों की संख्या में महज़ 2 फीसदी का इज़ाफा हुआ है।

दुनिया के 10 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट

अमीर व्यक्ति  देश  नेट वर्थ
जेफ बेजोसअमेरिका18900 करोड़ डॉलर
एलन मस्कअमेरिका16300 करोड़ डॉलर
बरनार्ड अरनाल्टफ्रांस16200 करोड़ डॉलर
बिल गेट्सअमेरिका14200 करोड़ डॉलर
मार्क जुकरबर्गअमेरिका11900 करोड़ डॉलर
वॉरेन बफअमेरिका  10800 करोड़ डॉलर
लैरी पेजअमेरिका  10600 करोड़ डॉलर
सरजेई बिनअमेरिका10200 करोड़ डॉलर
लैरी एलिसनअमेरिका 9120 करोड़ डॉलर
स्टीव बामरअमेरिका 8920 करोड़ डॉलर

देश में अडाणी और अंबानी (Adani-Ambani) जैसे उद्योगपतियों का लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था के बुरे हाल होने का बावजूद अमीर होते जाना और गरीब का और गरीब होना खराब सरकारी नीतियों का नतीजा है। यह बताता है कि सरकारी नीतियां देश में गरीबों को ऊपर उठाने में नाकामयाब रही हैं और लगातार हर क्षेत्र में कुछ चुनिंदा उद्योगपतियों को अवसर दिया जा रहा है जिससे उनका एकाधिकार कायम हो रहा है। यह सरकार के सहयोग के बिना संभव नहीं है।

Disclaimer: The opinions expressed within this article are the personal opinions of the author. The facts and opinions appearing in the article do not reflect the views of Ground Report and Ground Report does not assume any responsibility or liability for the same.

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

READ:  IPL 2021: यूएइ में इस दिन से फिर शुरु होगा आईपीएल, BCCI ने की बड़ी घोषणा