Delhi Election Result 2020 LIVE Update, Delhi Election Result 2020, Delhi Election 2020, Election Commission of India, Arvind Kejriwal, Manoj Tiwari, Rahul Gandhi, Amith Shah, PM Modi, BJP, Congress, AAP, Delhi,

Delhi Elections: फेसबुक एड पर आप ने किया सबसे ज्यादा खर्चा, दूसरे नंबर पर बीजेपी

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

न्यूज़ डेस्क, नई दिल्ली |दिल्ली विधानसभा चुनाव के शुरुआती रुझानों में आम आदमी पार्टी (आप) एक बार फिर दो तिहाई से अधिक बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करती नजर आ रही हैं. आप 52 सीटों पर आगे है तो वहीँ बीजेपी 18 सेटों पर आगे है. दिल्ली चुनाव में इस बार फेसबुक और सोशल मीडिया के विज्ञापनों का असर रहा. हालांकि 2015 के चुनाव में भी आप ने सोशल मीडिया पर खूब विज्ञापन दिए लेकिन इस बार का खर्च काफी हैरानी वाला है हैरान करने वाला है.

चुनाव के प्रचार में पिछले एक महीने के दौरान फेसबुक पर चुनावी विज्ञापनों पर 1.99 करोड़ रुपए खर्च किए गए. जिसमें 46% या करीब 92.16 लाख रुपए आम आदमी पार्टी, दिल्ली भाजपा और दिल्ली कांग्रेस के फेसबुक पेज ने खर्च किये. यह जानकारी फेसबुक की एड लाइब्रेरी रिपोर्ट से सामने आई. यह खर्च 7 जनवरी से 8 फरवरी के बीच हुआ. रिपोर्ट की मानें तो चुनावी विज्ञापनों पर खर्च करने के मामले में “आप” अबतक सबसे आगे रही है. आप का विज्ञापन पर कुल खर्च करीब 46.88 लाख रुपए रहा. दूसरी रही दिल्ली भाजपा और तीसरे नंबर पर दिल्ली कांग्रेस. रिपोर्ट के अनुसार चुनाव प्रचार के आखिरी हफ्ते और आखिरी दिन भाजपा ने ही सबसे ज्यादा विज्ञापन दिए. प्रचार के आखिरी दिन यानि 6 फरवरी को भाजपा ने 4.36 लाख रुपए के विज्ञापन दिए.

वहीं, आखिरी हफ्ते में उसने ऐसे विज्ञापनों पर 24.05 लाख खर्च किए. प्रचार थमने के बाद पार्टियों के आधिकारिक पेज से तो कोई चुनावी विज्ञापन नहीं दिया गया, लेकिन उनके समर्थक पेजों की तरफ से विज्ञापन दिए गए जो की आचार संहिता का साफ़ उल्लघन है.

दिल्ली में 7 जनवरी से 8 फरवरी के बीच फेसबुक पर 1.99 करोड़ रुपए के विज्ञापन आए, लेकिन आखिरी हफ्ते यानी 2 से 8 फरवरी के बीच 78 लाख से ज्यादा के चुनावी विज्ञापन दिए गए. चुनावी विज्ञापन देने में भले ही आम आदमी पार्टी सबसे आगे रही हो, लेकिन दिल्ली भाजपा ने आखिरी हफ्ते सबसे ज्यादा खर्च किया. दिल्ली भाजपा के फेसबुक पेज से 2 फरवरी से 8 फरवरी के बीच 24.05 लाख रुपए के विज्ञापन दिए गए. इसी दौरान आप ने 6.05 लाख और दिल्ली कांग्रेस ने 2.22 लाख रुपए के ही विज्ञापन दिए.