Home » Kerala murder case: तेज आवाज में गाना गाना पड़ गया भारी, गुस्साए पड़ोसी ने कर दी हत्या!

Kerala murder case: तेज आवाज में गाना गाना पड़ गया भारी, गुस्साए पड़ोसी ने कर दी हत्या!

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लोगों ने आजकल अपने गुस्से को इतना ऊपर कर दिया है कि इसके आगे लोग किसी की जान की कीमत को भी कुछ नहीं समझते। कभी किसी के गुस्से में पत्नी को मारने की घटना सामने आई तो कहीं से पति प्रताड़ित करने की घटना आई। लेकिन हद तो तब हो गई जब केरल में अपने ही पड़ोसी को तेज आवाज में गाना गाने पर मौत के घाट उतार दिया।

जानिए क्या था मामला

केरल उच्च न्यायालय (Kerala High Court) ने तेज आवाज में भजन गाने के कारण पड़ोसी की चाकू घोंपकर हत्या करने के जुर्म में एक व्यक्ति को सुनाई उम्रकैद की सजा बरकरार रखी है। दोषी शख्स ने तेज आवाज में गाना गाने पर बेटी की पढ़ाई में बाधा होने के चलते पड़ोसी की हत्या कर दी थी। उच्च न्यायालय ने इस मामले में सह-आरोपी को बरी करते हुए कहा कि वह हत्या करने का दोषी नहीं है या उसकी मुख्य आरोपी के साथ अपराध को अंजाम देने की साझा मंशा नहीं थी, उसे भी उम्रकैद की सजा सुनाई गयी थी।

People Dying Due To Hunger: दुनिया भर में हर मिनट 11 लोगों की हो रही भूख से मौत

READ:  Zika virus: Why Kerala and Tamil Nadu declared high alert

बेरहमी से दिया वारदात को अंजाम

न्यायमूर्ति की पीठ ने कहा, ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण रूप से पीड़ित ने कभी यह कल्पना नहीं की होगी कि अपने घर के बरामदे में खाली वक्त में भजन गाने के कारण उसके असहिष्णु पड़ोसी के हाथों उसका जीवन खत्म हो जाएगा।’ यह घटना 19 मार्च 2011 की शाम की है जब शशिधरन पिल्लई तेज आवाज में भजन गा रहा था और उसका पड़ोसी चिल्लाते हुए आया कि उसके गाना गाने से उसकी बेटी की पढ़ाई में परेशानी हो रही है। पिल्लई के बात न सुनने पर गहमा गहमी में युवक ने उस पर हमला कर दिया। इससे मौका ए वारदात पर पिल्लई की मौत हो गई।

मध्यप्रदेश में बिना किसी आधिकारिक सूचना के आदिवासी समुदाय को किया बेघर

तीनों को किया गया गिरफ्तार

पड़ोसी दो अन्य लोगों के साथ पिल्लई के घर झगड़े के मकसद से आया था। आने के बाद ही उसने पिल्लई से तेज आवाज में गाने गाने के लिए शिकायत की। जब पिल्लई ने उसकी बात नही सुनी तो युवक ने आक्रोश में आकर चाकू से उसकी हत्या कर दी। इसके बाद ही घटना की वजह से तीनों को गिरफ्तार तो कर लिया गया लेकिन पूछताछ के दौरान ही एक की मौत हो गई। बाकी दो को उम्रकैद की सजा सुना दी गई।

READ:  Institutional murder of Ananya Kumari Alex

इसके बाद उन्होंने इस फैसले को केरल हाईकोर्ट में चुनौती दी। इससे कोई हल तो नहीं निकलने वाला है और न ही जुर्म बदलने वाला है। बावजूद इसके उन्होंने अपनी ओर से कोशिश जारी रखी है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.