Home » संवैधानिक पद पर बैठे सूबे के एक मुखिया ने सरेआम क़त्लेआम की धमकी दी है !

संवैधानिक पद पर बैठे सूबे के एक मुखिया ने सरेआम क़त्लेआम की धमकी दी है !

संवैधानिक पद पर बैठे सूबे के एक मुखिया ने सरेआम क़त्लेआम की धमकी दी है !
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हालही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिहार और यूपी में भाजपा के लिए चुनावी प्रचार का चेहरा बने हुए हैं। चुनावी सभाओं में सीएम योगी भाषण देते समय ये भूल जाते हैं कि वो आबादी के लिहाज़ से देश के सबसे बड़े प्रदेश के मुखिया हैं। क्या कोई संवैधानिक पद पर बैठा इंसान-‘कठमुल्लों के फतवों से नहीं संविधान से चलेगा देश‘, नहीं तो राम नाम सत्य की यात्रा पक्की जैसी बातें बोल सकता है ?

उत्तर प्रदेश में ‘लव जिहाद’ के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर में ऐसे अपराध में शामिल होने वाले लोगों को चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये लोग राम नाम सत्य की यात्रा के लिए एकदम तैयार रहें। इन्हें किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।

READ:  Vaccination in Periods: क्या पीरियड्स में कोरोना वैक्सीनेशन असुरक्षित है?

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कल हाई कोर्ट का एक फैसला आया है कि सिर्फ शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं है। सरकार लव जिहाद पर जल्द अंकुश लगाने जा रही है। सीएम योगी ने कहा कि हम कानून बनाएंगे। मैं उन लोगों को चेतावनी देता हूं जो पहचान छिपाते हैं और हमारी बहनों के सम्मान के साथ खेलते हैं। यदि आप सुधरते नहीं हैं तो आपकी राम नाम सत्य यात्रा निकलेगी।

US President Election: कैसे होता है अमेरिका के राष्ट्रपति का चुनाव?

धर्म परिवर्तन को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने शुक्रवार को एक फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि महज शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं है। अदालत ने विपरीत धर्म के जोड़े की याचिका को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि एक याची मुस्लिम तो दूसरा हिंदू है. लड़की ने 29 जून 2020 को हिंदू धर्म स्वीकार किया और एक महीने बाद 31 जुलाई को विवाह कर लिया. कोर्ट ने कहा कि रिकार्ड से स्पष्ट है कि शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन किया गया।

READ:  Sunday lockdown in UP, Rs 10,000 fine for not wearing mask

कठमुल्लों के फतवों से नहीं संविधान से चलेगा देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को बिहार विधानसभा चुनावी रैलियों के दौरान वैशाली की रैली के मंच से बोला, “ किसी कठमुल्ले के कहने पर फतवा जारी करवा तीन तलाक जैसी कुप्रथा का समर्थन कांग्रेस और राजद के लोग करते थे। यही नहीं ये लोग नाक रगड़कर उनके पास जाते थे और कहते थे कि ये जो फतवा जारी हुआ है।”देश फतवे के अनुसार नहीं संविधान के अनुसार चलेगा । भाजपा ने कश्मीर से धारा 370 को सदैव के लिये समाप्त कर दिया गया है और अब इस देश की धरती से नक्सलवाद को उखाड़ के फेंक देगी।

READ:  कोरोना हर एक पर बरपा रहा अपना कहर, इन 10 हस्तियों ने भी तोड़ा दम

You can connect with Ground Report on FacebookTwitter and Whatsapp, and mail us at GReport2018@gmail.com to send us your suggestions and writeups