Shivraj government accepted KamalNath's 27 lakh Farmers loan waived of Madhya Pradesh Kamalnath Goverment in Crisis

चुनाव के बाद भी क्यों होते हैं उपचुनाव, ये हैं 6 कारण

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Madhya Pradesh By Elections 2020: मध्य प्रदेश में आगामी महीनों में कुल 24 सीटों पर उपचुनाव होने हैं। बीजेपी-कांग्रेस दोनों ही पार्टियां जोर-शोर से चुनाव की तैयारियां कर रहे हैं। लेकिन चुनाव तो हो चुके हैं फिर ये उप चुनाव क्यों… यहां समझिए वो 6 स्थिति, जिसमें से किसी एक के चलते उपचुनाव होते हैं…

किन स्थिति में हो सकते हैं उपचुनाव:

(1) किसी सांसद या विधायक की मृत्यु के कारण।

(2) सांसद या विधायक के त्यागपत्र देने के कारण।

(3) न्यायिक निर्णय की वजह से व्यक्ति को उसकी जगह से हटाया जाने के कारण।

(4) दल- बदलू कानून ( Anti-defection law) के तहत स्पीकर किसी भी व्यक्ति को लोकसभा, राज्यसभा या विधानसभा की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दे।

(5)कभी-कभी कुछ लोग दो जगह से चुनाव लड़ते हैं, तो अगर वह व्यक्ति दोनों ही जगह पर विजय प्राप्त करता है, तो उसे एक जगह से रिजाइन देना पड़ता है। इसी कारण जिस जगह से रिजाइन दिया वह सीट खाली हो जाती है और फिर उसे भरने के लिए उप चुनाव होते हैं।

(6) सांसद को मुख्यमंत्री या उप मुख्यमंत्री बना दिया जाए तो फिर वह सांसद के पद से रिजाइन करता है, उस कारण भी उप चुनाव होते है। मंत्री बनने के लिए आपको किसी भी सदन की 6 महीने के अंदर- अंदर सदस्यता लेनी होती है।