दीवाली के मौक़े पर योगी सरकार ने किया 25 हज़ार होमगार्डों के घर अंधेरा, एक झटके में छीन ली नौकरी…

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में एक झटके में 25 हजार होमगार्ड को बेरोजगार कर दिया. पुलिस विभाग ने बजट का हवाला देते हुए 25 हजार होमगार्ड जवानों की ड्यूटी समाप्त करने का निर्णय ले लिया है. इस संबंध में एडीजी पुलिस मुख्यालय, प्रयागराज बीपी जोगदंड ने आदेश जारी कर दिया है.

Kanpur Central: कानपुर रेलवे स्टेशन पर कैसे रोज़ाना हज़ारो लीटर पानी हो रहा है बर्बाद : देखें

ख़बर है कि पुलिस के सिपाही के बराबर होमगार्ड को वेतन दिए जाने के न्यायालय के निर्देश के बाद प्रदेश में होमगार्ड का एक दिन का वेतन 500 रुपये से बढ़कर 672 रुपये हो गया था. इसका सीधा प्रभाव जिलों के बजट पर पड़ रहा था. इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. प्रदेश में होमगार्ड के पद 1 लाख 18 हजार हैं.

‘16वीं सदी से पहले अयोध्या में नहीं मिलता राम की पूजा का कोई प्रमाण’

बढ़े हुए वेतन के चक्कर में पुलिस महकमे ने तय किया है कि वह होमगार्ड से काम नहीं लेगा. यानी एक साल पहले गृह विभाग ने सिपाहियों के रिक्त पदों के स्थान पर जो 25 हजार होमगार्ड लगाए थे, उनकी सेवाएं समाप्त करने का आदेश दिया है.यह निर्णय उच्चतम न्यायालय के आदेश से गड़बड़ाए बजट को बैलेंस करने के लिए लिया गया है. इसमें से 19 हजार पद रिक्त हैं. पिछले महीने 92 हजार होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जा रही थी जबकि उपलब्ध होमगार्ड की संख्या 99 हजार थी.

Aarey forest : 33% हिस्सों पर वनों का होना ज़रूरी, लेकिन देश के सिर्फ 24.49 % हिस्सों में वनों की उपस्थिति

कानून व्यवस्था में ड्यूटी करने वाले होमगार्डों की संख्या में भी 32 फीसदी तक की कटौती की गई है. एडीजी के आदेश के बाद 25 हजार होमगार्ड की सेवाएं समाप्त हुई हैं. एडीजी पुलिस मुख्यालय, बीपी जोगदंड ने ये आदेश जारी किया. 28 अगस्त को मुख्य सचिव की बैठक में ड्यूटी समाप्त करने का फैसला लिया गया था. अब तक 40 हजार होमगार्ड्स की ड्यूटी समाप्त की जा चुकी है. होमगार्ड को 25 दिन के बजाय अब 15 दिनों की ही ड्यूटी मिलेगी.