Home » Jaipur rape case : बच्ची से दरिंदगी करने वालों को कोर्ट ने सुनाई 20 साल की सजा, 5 दिन में पहुंचाया अपराधियों को जेल के भीतर

Jaipur rape case : बच्ची से दरिंदगी करने वालों को कोर्ट ने सुनाई 20 साल की सजा, 5 दिन में पहुंचाया अपराधियों को जेल के भीतर

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

“मेरा देश बदल रहा है !” इस कथनी को जयपुर की अदालत ने साबित कर दिखाया है। जब एक बच्ची से दरिंदगी करने वाले अपराधियों को कोर्ट ने 5 दिन के भीतर ही सजा सुना दी। सारी जानकारी और सुबूतों को मद्देनजर रखते हुए अदालत ने फैसला लिया कि वे अपराधी हैं और उन्हे 20 साल की कड़ी सजा सुनाई है।

बवाल हो गया! Whatsapp और Instagram ठप्प हो गया

9 साल की बच्ची से किया रेप

26 सितंबर की शाम 9 साल की पीड़िता अपने नाना के लिए बीड़ी खरीदने बाजार गई थी। रास्ते में अकेला पाकर अभियुक्त ने उसका अपहरण कर लिया। इसके बाद वह उसे सुनसान जगह ले गया और दुष्कर्म किया। खून से लथपथ बच्ची ने जब वहां से भागने की कोशिश की तो उस दरिंदे ने उसे मारने के लिए उसे जकड़ लिया। उसने बच्ची को छोटा पाकर उसे गला दबाकर मारने की कोशिश की लेकिन कैसे भी कर के बच्ची उसके चंगुल से भाग निकली।

READ:  Puja pandals, temples attacked in Bangladesh, govt promises action

जल्द से जल्द नजदीकी थाने में कराई रिपोर्ट दर्ज

आपको बता दें जब पीड़िता ने इस बात की जानकारी अपने घरवालों को दी तो उन्होंने लोकलाज और शर्म और साइड रखते हुए अपनी बच्ची का पक्ष लिया और जल्द से जल्द नजदीकी पुलिस थाने में सूचना दी। मामले की जानकारी मिलने पर कोटखावदा थाना पुलिस सहित करीब 150 पुलिसकर्मियों 12 घंटे में अभियुक्त को गिरफ्तार कर अगले 6 घंटे में आरोप पत्र पेश कर दिया।

लखीमपुर: वीडियो में देखिए कैसे मंत्री की गाड़ी ने किसानों को कुचल कर मार डाला

5 दिन में सजा सुनाकर अपराधियों को किया सतर्क

भारत एक ऐसा देश है जहां जितने लोग नहीं हैं उतने केस तो निर्माणाधीन पड़े रहते हैं। हालिया मिली खबर में पता लगा कि भारत का सबसे पुराना जो की 219 सालों से कलकत्ता के न्यायालय में आज भी विचाराधीन पड़ा है। ये केस तब से है जब भारत में कोर्ट कचहरी का कोई अस्तित्व भी लोगों के जहन में नहीं था।पीढ़ी दर पीढ़ी ये केस बस चलता ही जा रहा है लेकिन भारत के लिए बनी इस धारणा को जयपुर की इस कोर्ट ने खारिज करते हुए 5 दिनों में ही दोषी को जेल की चारदीवारों की शकल दिखा दी। ये अपने आप में ही एक बेहद खास बात है।

READ:  Pandora papers; What's the story

You can connect with Ground Report on FacebookTwitterInstagram and WhatsappFor suggestions and writeups mail us at GReport2018@gmail.com