Home » मोदी जी… 15 और मज़दूर सड़क पर कुचल कर मर गए

मोदी जी… 15 और मज़दूर सड़क पर कुचल कर मर गए

PM Modi Address to nation lockdown extension
Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Ground Report | UP

लॉकडाउन के बाद शहरों पैदल चल कर अपने-अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मज़दूरों के साथ एक बार फिर दर्दनाक घटना हो गई । तीन अलग-अलग हादसों में उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में कम से कम 15 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई है जबकि इस दौरान 60 से अधिक प्रवासी मजदूर घायल हो गए हैं। परेशान प्रवासी मजदूरों के साथ हो रहे हादसे रुकने का नाम नहीं ले रहे और उन्हें अपनी जान तक से हाथ धोना पड़ रहा है ।

उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के समीप दिल्ली-सहारनपुर राजमार्ग पर तेज गति से आ रही एक बस से कुचलकर छह प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई और पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। एसएसपी अभिषेक यादव ने गुरुवार को बताया कि आरोपी चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है। ऐसा शक है कि उसने शराब पी रखी थी। अधिकारी ने बताया कि ये मजदूर हरियाणा से चले थे और बिहार में अपने घर पैदल जा रहे थे जब बुधवार देर रात यहां से करीब 20 किलोमीटर दूर घलीली जांच चौकी और रोहाना टोल प्लाजा के बीच दिल्ली-सहारनपुर राजमार्ग पर वे बस की चपेट में आ गए।

मृतकों की पहचान 51 वर्षीय हरेक सिंह और उनके 22 वर्षीय बेटे विकास, 18 वर्षीय गुड्डु, 22 वर्षीय वासुदेव, 28 वर्षीय हरीश और 28 वर्षीय विरेंद्र के रूप में की गई है। हादसे में घायल सुशील, नाथू सैनी, पवन सैनी, प्रमोद और रामजी राय को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं, चित्रकूट के बरगढ़ थाना क्षेत्र में कलचिहा गांव के पास एक ट्रक ने सड़क किनारे बैठे चार प्रवासी मजदूरों को टक्कर मार दी, जिसमें एक मजदूर की मौत हो गई।पुलिस के मुताबिक सभी मजदूर पानी पीने के लिए मंगलवार शाम बरगढ़ क्षेत्र के रीवा मार्ग पर कलचिहा गांव के पास सड़क किनारे बैठ गए थे, तभी इलाहाबाद की ओर से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी। ये सभी मजदूर छत्तीसगढ़ के रायपुर से साइकिलों पर सवार होकर सहारनपुर और मुजफ्फरनगर जिलों में स्थित अपने-अपने घर लौट रहे थे।

READ:  International news : क्या है हवाना सिंड्रोम? जिसने कोरोना के खत्म होने से पहले ही पसारे अपने पांव!

पुलिस ने बुधवार को बताया कि लॉकडाउन के कारण रायपुर में गुड़ की एक फैक्ट्री में काम बंद हो जाने के बाद मोहन (40), राधेश्याम (40), रामनिवास (54) और रवींद्र (54) साइकिलों पर सवार होकर अपने-अपने घर लौटने के लिए निकले थे। मोहन सहारनपुर जिले के चपारी गांव और राधेश्याम, रामनिवास एवं रवींद्र मुजफ्फरनगर जिले के पसीली गांव के रहने वाले हैं।

इसके साथ ही मध्य प्रदेश में गुना के पास गुरुवार तड़के करीब दो बजे एक बस और ट्रक की टक्कर से ट्रक में सवार आठ प्रवासी श्रमिकों की मौत हो गई और बस चालक समेत लगभग 54 घायल हो गये। 65 प्रवासी श्रमिकों से भरी ट्रक महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश के उन्नाव जा रही थी। जबकि बस यात्रियों को छोड़ने के बाद भिंड से अहमदाबाद लौट रही थी। पुलिस ने बताया कि हादसा गुरुवार तड़के गुना के पास हुआ जब प्रवासी श्रमिक महाराष्ट्र से एक ट्रक से उत्तर प्रदेश जा रहे थे।

READ:  Dog's killer got arrested : 20 कुत्तों को जहर देकर मारने वाला दरिंदा गिरफ्त में, पुलिस ने बताया हत्या के पीछे का कारण।

ग्राउंड रिपोर्ट के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।