Kota Child Deaths : 100 बच्चों की मौत हो गई, समाधान खोजने के बजाए नेताओं ने शुरू कर दी राजनीति

Sharing is Important
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्राउंड रिपोर्ट । नेहाल रिज़वी

राजस्थान में कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। यहां दिसंबर में 100 और नए साल के पहले दो दिन में यहां तीन बच्चों की मौत हो गई है। इन्हें मिलाकर बच्चों की हुई मौत का कुल आंकड़ा 103 हो गया है। एक तरफ जहां बच्चों की मौत का सिलसिला लगातार जारी है, वहीं दूसरी तरह इस मुद्दे को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। आरोपों का भी दौर चालू हो गया।

6 साल पहले मर चुके ‘बन्ने खान’ भंग कर सकते थे शांति, यूपी पुलिस ने 107 और 116 के तहत मामला दर्ज कर भेजा नोटिस

अस्पताल के अधीक्षक सुरेश दुलारा के अनुसार, अधिकतर शिशुओं की मौत मुख्यत: जन्म के समय कम वजन के कारण हुई है। बीते 23-24 दिसंबर को 48 घंटे के भीतर अस्पताल में 10 शिशुओं की मौत को लेकर काफी हंगामा हुआ था। हालांकि, अस्पताल के अधिकारियों ने कहा था कि यहां 2018 में 1,005 शिशुओं की मौत हुई थी और 2019 में उससे कम मौतें (963 शिशुओं की मौत) हुई हैं।

साल 2019 में भर्ती कुल 16,995 मरीजों में से 963 बच्चों की मौत हुई।

अस्पताल के अधीक्षक दुलारा के अनुसार, साल 2014 में भर्ती कुल 15,719 मरीजों में से 1198 बच्चों की मौत हुई। साल 2015 में भर्ती कुल 17,569 मरीजों में से 1260 बच्चों की मौत हुई। साल 2016 में भर्ती कुल 17,892 मरीजों में से 1193 बच्चों की मौत हुई। इसी तरह साल 2017 में भर्ती कुल 17,216 मरीजों में से 1027 बच्चों की मौत हुई। साल 2018 में भर्ती कुल 16,436 मरीजों में से 1005 बच्चों की मौत हुई और साल 2019 में भर्ती कुल 16,995 मरीजों में से 963 बच्चों की मौत हुई।

क्या आत्मरक्षा की आढ़ में ‘सेलेक्टिव किलिंग’ कर रही यूपी पुलिस ?

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को कहा कि सरकार बीमार शिशुओं की मौत पर पूरी तरह संवेदनशील है और इस मामले में राजनीति नहीं होनी चाहिए।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा है।

मायावती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का नाम लिए बिना कहा कि कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्व, खासकर महिला महासचिव इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। उन्होंने कहा ‘अच्छा होता कि वह उत्तर प्रदेश की तरह राजस्थान जातीं और उन गरीब पीड़ित माओं से मिलतीं।’

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्ध न ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर बच्चों की मौत के मामले में चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय राज्य सरकार को हर तरह की सहायता उपलब्ध कराने को तैयार है।